दुनिया के १० सबसे खतरनाक आतंकी संगठन जो इंसानियत के लिए सबसे बड़ा खतरा है

आतंकवाद आज सारे विश्व के लिए अभिशाप बन गया है, लगभग सभी देश इस आतंकवाद से परेशान हैं। दिन-प्रतिदिन आतंकी घटनाएं सुनने को मिल रही हैं जिसमे कई मासूम बच्चे, युवा, औरतें, बूढ़े सभी वर्ग इसका शिकार बन रहें हैं। इंसानियत को सरे बाजार नीलाम कर चुके ये आतंकी सिर्फ खून बहाना जानते हैं। दुनियाभर में कई देशो के ख़ुफ़िया संगठन आतंकवाद को ख़तम करने का प्रयास कर रहें हैं लेकिन इनकी जड़े विश्व-भर में इतनी फ़ैल गयी है की इन पर कोई फर्क नहीं पड़ता।

हाल ही में सभी ने देखा की किस तरह उरी में पाकिस्तानी आतंकवादियों ने भारतीय सेना पर धोके से हमला कर दिया जिसमें 17 जवान शहीद हो गए और कई जवान घायल हुए।

वेसे तो विश्वभर में कई छोटे-बड़े आतंकी संगठन सक्रीय हैं लेकिन हम आपको दुनियां के 10 सबसे बड़े आतंकी संगठनो के बारे में बताने जा रहें हैं जो समस्त संसार के लिए खतरा बनगए हैं।

1- अलकायदा

alkada

 

इस आतंकवदी संगठन की स्थापन सत्र 1988 में ओसामा बिन लादेन ने की थी, एक समय था जब विश्व का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका भी अलकायदा के सामने कांपता था। अलकायदा सभी आतंकी संगठनो में सबसे खतरनाक माना जाता है। यह दुनियां का ऐसा आतंकी संगठन है जिसने अपने साथ पढ़े-लिखे पेशेवर लोगों को शामिल किया है और अपने आतंकियों को हाईटेक मशीनों से लेस्स किया हुआ है ताकि ये पूरी दुनियां में अपना डंका बजा सके। अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेण्टर में हुआ 9/11 का ऐतिहासिक हमला भी ओसामा बिन लादेन के नेतृत्व में इसी संगठन द्वारा किया गया था।
ओसामा के मारने के बाद यह संगठन कमजोर पड़ गया था लेकिन वर्तमान में अल जवाहरी के नेतृत्व में यह संगठन फिर से मजबूत हो गया है।

2 – इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस)

islamik-state

आतंकवाद की दुनियां में यह संगठन अपने आतंक के मकसद के चलते अलकायदा से भी खतरनाक है। इस संगठन को 1999 में आबू बकर अल बगदादी ने बनाया था जो की ईराक और सीरिया में काफी सक्रीय है। इसका मकसद आतंक फ़ैलाने के साथ-साथ एशिया से लेकर यूरोप समेत पूरी दुनियां का इस्लामीकरण करना और शरिया कानून लागु करना है। बगदादी का बनाया ये आतंकी संगठन इतना हिंसक और बेरहम है की अलकायदा ने भी इसकी निंदा की है इस संगठन में दुनिया-भर के लड़ाकू शामिल हैं।

3-तालिबान

taliban

यह आतंकी संगठन सत्र 1994 में मुल्ला मोहम्मद उमर के नेतृत्व में बना। तालिबान दुनियां का ऐसा आतंकी संगठन है जिसने अफगानिस्तान पर सत्र 1996 से 2001 तक हुकूमत चलायी। तालिबान ने अफगानिस्तान में शरीयत और इस्लामिक कानून लागु किया जिसके कारण यह देश बहुत पिछड़ गया, इसे अलकायदा का समर्थन भी हासिल था। अमेरिकी सेनिको ने इस संगठन को तहस-नहस कर दिया था, यह संगठन अब भी दुबारा पनपने की कोशिस कर रहा है।

4- तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान

tehreer-a-talibani

यह संगठन पाकिस्तान के कई छोटे इस्लामिक आतंकी संगठनो से मिलकर बना है।
यह संगठन पाकिस्तानी तालिबान के नाम से जाना जाता है जिसकी स्थापना सत्र 2007 में पाकिस्तान के कुख्यात आतंकवादी बेतुल्ला महसूद द्वारा की गयी थी। इसी आतंकी संगठन द्वारा पाकिस्तान में पेशावर के आर्मी स्कूल में 132 मासूम बच्चो सहित 148 लोगों की निर्दयता से हत्या करदी थी। यह भी दुनिया के खतरनाक आतंकी संगठनो में से एक है यह संगठन लड़कियों की शिक्षा का भी विरोध करता है।

5-बोको हराम

boko

 

यह संगठन सत्र 2002 में मुस्लिम गुरु मोहम्मद यूसुफ़ द्वारा बनाया गया यह नाइजीरिया का एक खतरनाक आतंकी संगठन है। इसका एकमात्र लक्ष्य है नाइजीरिया में इस्लामीकरण को बढ़ावा देना, अंग्रेजी में बोको हराम का मतलब है “पश्चिमी शिक्षा पाप है” जो इस संगठन के खिलाफ जाता है उसे ये बेरहमी से मार देते है और जिन्दा भी जल देते है। सत्र 2009 की सैन्य कार्यवाही में इस संगठन का मुखिया मारा गया था, लेकिन इसके लोग लगातार आतंक फैला रहे हैं।

6-लश्कर ए तैयबा

lashkar-e-taiba
यह भी पाकिस्तानी आतंकी संगठन है, मुम्बई हमले के लिए इसी संगठन को जिम्मेदार मन जाता है।
यह आतंकी संगठन दक्षिण एशिया का सबसे हिंसक और बड़ा आतंकी संगठन है, इसका मुख्य उद्देश्य भारत में आतंकवाद फैलाना है। इसे पाकिस्तानी सेना और आईएसआई का समर्थन प्राप्त है। इसकी स्थापना हाफिज़ मुहम्मद सईद द्वारा सत्र 1990 में की गयी थी।

7-हजिबुल्लाह

hajibullllah

यह लेबनानी आतंकी संगठन है जिसे ईरान और सीरिया का समर्थन प्राप्त है, जिसका निर्माण 1985 में लेबनानी गृहयुद्ध के दौरान हुआ था। इसे लेबनान का शिया राजनितिक और अर्द्धसैनिक संगठन मना जाता है,इस संगठन को इज़राइल और सुन्नी अरब देशो का सबसे बड़ा दुश्मन माना जाता है।
सीआईए की मने तो यह संगठन लेबनान की 41 प्रतिशत जनसँख्या का समर्थन प्राप्त होने का दावा करता है और यह संगठन देश में कई सामाजिक और मानवीय कार्यकर्मो का हिस्सा भी बनाता है।

8-जैश-ए-मोहम्मद

jaish-e-muhommad

यह पाकिस्तानी जिहादी संगठन है इसका मकसद कश्मीर को भारत से अलग करना है।
इसे अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशो में आतंकी गतिविधियों में भी शामिल समझ जाता है , भारत में हुए कई आतंकी हमलो में इसका हाथ बताया जाता है। इसकी स्थापना सत्र 2000 में मसूद अज़हर नामक पाकिस्तानी पंजाबी नेता की थी। इस आतंकी संगठन को भारत, अमेरिका और ब्रिटेन ने आतंकवादी संगठनो की सूची में शामिल किया है।

9-इंडियन मुजाहिद्दीन

indian-mu

यह संगठन भारत में कई आतंकी गतिविधियों में शामिल रहा है, इसे बंगलदेश और पाकिस्तान के कुछ आतंकी संगठनों का समर्थन प्राप्त है। सत्र 2010 में अब्दुल सुभान कुरैशी द्वारा इस संगठन की स्थापना की गयी थी, इसका मकसद भारत में शरिया कानून स्थापित करना है।
इसे भारत समेत अमेरिका और न्यूजीलैंड ने भी आतंकी संगठन सूचि में शामिल कर रखा है।

10- अल नुस्रा फ्रन्ट

alnu

 

इस आतंकी संगठन को सीरिया में अलकायदा के नाम से जाना जाता है, विश्वभर में इस संगठन को काफी खतरनाक माना जाता है, इसका मकसद भी विश्व में इस्लामीकरण का विस्तार करना है।
यह संगठन पश्चिमी देशो का विरोधी है और इजराइल का कट्टर दुश्मन है, और सीरिया विरोधियों के समर्थक है। इसका मुखिया अबु मोहम्मद अल जुलानी था।

Facebook Comments